"> ');
Home » क्या आप जानते है विटामिन्स और उनके कमाल के बारे में?
लाइफस्टाइल

क्या आप जानते है विटामिन्स और उनके कमाल के बारे में?


Pooja cloths house

क्या होते है विटामिन्स?
विटामिन्स वो कार्बनिक यौगिक होते हैं, जो शरीर को सुचारु रूप में चलाने का काम करते हैं । इनकी उचित मात्रा का शरीर में होना अति आवश्यक हो जाता है। क्योंकि अक्सर इनकी कमी शरीर में काफी क्षति पहुंचा  देती है। दरअसल, हमें विटामिन्स भोजन से मिलते हैं। इसके साथ ही इन्हें हमारा शरीर खुद नहीं बना सकता और अगर बनाता है तो उसकी मात्रा कम होती है। इसीलिए भोजन ही एकमात्र स्त्रोत है।
असल में प्रत्येक जीव-जंतु को अपने जीवन चक्र को चलाने के लिए विभिन्न प्रकार के विटामिन्स चाहिए होते हैं। और वो क्या हैं और कैसे आप इनकी पूर्ति कर सकते हैं? आज हम करेंगे इसी बारे में चर्चा।

विटामिन्स का वर्गीकरण
फैट-सॉल्युबल: ये हमारे शरीर में फैटी ऊतकों में आसानी से संग्रहित हो जाते हैं। इसके साथ ही ये हमारे शरीर के अंदर बहुत दिनों तक बल्कि महीनों तक रह सकते हैं।
वाटर-सॉल्युबल: ये हमारे शरीर में संग्रहित नहीं किये जा सकते और साथ ही ये हमारे शरीर में ज्यादा देर तक नहीं रह सकते हैं।
वैसे आपको बता दें कि मनुष्य का शरीर विटामिन C नहीं बना सकता जबकि कुछ जानवर जैसे की कुत्ता खुद से शरीर में विटामिन C बना सकता है।

विटामिन्स के प्रकार
विटामिन्स 13 प्रकार के होते हैं-
01. VITAMIN A (Retinol) :

  • विटामिन A का रासायनिक नाम रेटिनॉल (Retinol) है।
    यह फैट-सॉल्युबल विटामिन है।
    इसका मुख्य काम मांसपेशियाँ और हड्डी को मज़बूती और ताकत देना है।
    ये शरीर में कैल्शियम का बैलेंस बनाये रखता है।
    इसके साथ ही ये कील-मुहासों के इलाज में कारीगर है और बालों को स्वस्थ रखने में मददगार है।
    इसकी कमी से आंखों में दिक्कतें होने लगती हैं।

विटामिन ए के मुख्य स्रोत है-
दूध, हरी सब्ज़ियां और पनीर।

VITAMIN B:
विटामिन बी के कई रूप है। जो नीचे दिए गये हैं-

 

02. VITAMIN B1 (Thaimine):

  • विटामिन बी 1 का रासायनिक नाम थाइमिन (Thaimine)
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये दिमाग को विकसित करने में बेहद उपयोगी है।
    इसकी कमी के कारण बेरीबेरी रोग हो सकता है।

विटामिन बी1 के मुख्य स्रोत है-
सूरजमुखी के बीज, अनाज, आलू, संतरे और अंडे।

 

03. VITAMIN B2 (Riboflavin):

  • विटामिन बी 2 का रासायनिक नाम राइबोफ्लेविन (Riboflavin) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये त्वचा को चमकदार व सुंदर बनाने में लाभप्रद है।

विटामिन बी2 के मुख्य स्रोत है-
केला, दूध, दही, मास, अंडे, हरी बीन्स और मछली।

 

04. VITAMIN B3 (Niacin):

  • विटामिन बी 3 का रासायनिक नाम नियासिन (Niacin) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये रक्तचाप को काबू हमें रखता है और साथ ही पेट की समस्याओं में रामबाण का काम करता है।

विटामिन बी3 के मुख्य स्रोत है-
खजूर, दूध, अंडे, टमाटर, गाजर और एवोकाडो।

 

05. VITAMIN B5 (Pantothenic acid):

  • विटामिन बी 5 का रासायनिक नाम पैंटोथेनिक एसिड (Pantothenic acid) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये तनाव से बचाव करने के साथ-साथ बालों को सफेद होने से बचाता है।

विटामिन बी5 के मुख्य स्रोत हैं-
एवोकैडो, अनाज और मांस।

 

06. VITAMIN B6 (Pyridoxine):

  • विटामिन बी 6 का रासायनिक नाम प्यरीडॉक्सीने (Pyridoxine) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये तनाव और अनिंद्रा से मुक्ति देता है।

विटामिन बी6 के मुख्य स्रोत हैं-
अनाज, मांस, केले और सब्जियां।

 

07. VITAMIN B7 (Biotin):

  • विटामिन बी 7 का रासायनिक नाम बायोटिन (Biotin) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    इसकी कमी से सूजन की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
    ये त्वचा और बालों के लिए लाभदायी है।

विटामिन बी7 के मुख्य स्रोत हैं-
अंडे की जर्दी (Egg yolk) और सब्जियां।

 

08. VITAMIN B9 (Folic acid):

  • विटामिन बी 9 का रासायनिक नाम फोलिक एसिड (Folic acid) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा होता है।

विटामिन बी9 के मुख्य स्रोत हैं-
पत्तीदार शाक भाजी, सूरजमुखी के बीज और फल

 

09. VITAMIN B12 (Cyanocobalamin):

  • विटामिन बी 12 का रासायनिक नाम कयनोसोबलमीन (Cyanocobalamin) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये शरीर में खून की कमी नहीं आने देता साथ ही मुंह के छाले के इलाज में कारीगर है।

विटामिन बी 12 के मुख्य स्रोत हैं-
मछली, मांस, दूध, अंडे और दूध दे बनाये उत्पादों में यह होता है।

 

10. VITAMIN C (Ascorbic acid):

  • विटामिन सी का रासायनिक नाम एस्कॉर्बिक एसिड (Ascorbic acid) है।
    यह वाटर-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये त्वचा, हड्डियों और घाव को जल्द ठीक करने में मदद करता है।
    यह गर्भवती महिलाओं, धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों के लिए अच्छा होता हैं।

विटामिन सी के मुख्य स्रोत हैं-
टमाटर, ब्रोकोली, नींबू और इमली।

 

11. VITAMIN D (Ergocalciferol):

  • विटामिन डी का रासायनिक नाम एरगोसेल्सिफेरोल (Ergocalciferol) है।
    यह फैट-सॉल्युबल विटामिन है।
    यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत करने में मदद करता है।
    हमारे शरीर में कैल्शियम अब्सॉर्ब करने में भी मदद करता है।
    साथ ही दांतों के लिए अच्छा होता है।
    इसकी कमी से सूखा रोग (Rickets) हो सकता है।

विटामिन डी के मुख्य स्रोत हैं-
सूरज की रौशनी, दूध और अंडे की जर्दी।

 

12. VITAMIN E (Tocopherols):

  • विटामिन ई का रासायनिक नाम तोसोफेरोल्स (Tocopherols) है।
    यह फैट-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मज़बूत बनाता है।
    साथ ही त्वचा को चमकदार बनाने में सहायक है।

विटामिन ई के मुख्य स्रोत हैं-
वनस्पति तेल, अनाज, बादाम, एवोकैडो, अंडे और दूध।

 

13. VITAMIN K (Phylloquinone):

  • विटामिन के का रासायनिक नाम फीलोक्विनोने (Phylloquinone) है।
    यह फैट-सॉल्युबल विटामिन है।
    ये बल्ड क्लॉटिंग में सहायक है।
    ये शरीर में प्रोटीन बनाने में कारीगर है।
  • विटामिन के के मुख्य स्रोत हैं-
  • पत्ता गोभी, ब्रोकली, पालक व चुकंदर।

विटामिन्स हमारी सेहत के लिए बेहद आवश्यक होते हैं इसीलिए अपने खान-पान में इनका संतुलन बनाये रखें।
आप भी अपने सुझाव हमें eyubharat@gmail पर भेज सकते हैं।

Written by: Vanshika Saini
YUVA BHARAT SAMACHAR

 

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center