"> ');
Home » टिड्डियों के वार से फिर परेशान किसान, आई शामत
राष्ट्रीय

टिड्डियों के वार से फिर परेशान किसान, आई शामत

सांकेतिक चित्र
Pooja cloths house

देश भर में परेशानियों का अंबार लगा हुआ है। सभी ओर से आपत्ति आने के ही संकेत मिल रहे है। ऐसे में एक बार फिर से टिड्डी दल सुर्खियां बटौर रहा है। टिड्डियों ने देश भर के किसान भाईयों को परेशान किया हुआ हैं। अब फसलों पर खतरा मंडराता देख किसान लोग जुगाड़ अपनाने को मजबूर है।
बीते शुक्रवार की बात करें तो टिड्डियों को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर बस्ती मंडल में देखा गया। रविवार तक कीड़ा दल ने कई इलाकों की फसलों को तहस-नहस कर दिया। इसी के साथ आपको बता दें कि इस हमले से सबसे ज्यादा नुकसान कैंपियरगंज के किसानों को उठाना पड़ा है। हालांकि टिड्डी दल अब बस्ती से निकल चुका है लेकिन कुशीनगर, देवरिया, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर और महरागंज के किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा।

सांकेतिक चित्र

इसी के साथ ये सिलसिला शनिवार और रविवार को भी बरकरार रहा जिसमें पनियरा, बेलसड़ व बृजमनगंज क्षेत्र के फूलमनहां, दुबौलिया,बचगंगपुर, नौसागर, महुलानी, मटिहनवां समेत कई इलाकों में टिड्डियों का आतंक चर्म सीमा पर रहा। जब इस बात की सूचना अधिकारियों तक पहुंची तब जाकर कुछ इंतेज़मात किए गए।

फायर बिग्रेड का लिया सहारा

कुशीनगर जिले में प्रशासन ने टिड्डियों से छुटकारा पाने के लिए फायर ब्रिगेड की पांच गाड़ियों को लगाया। और दवा का छिड़काव कराया गया। हालांकि मौसम में नमी के चलते इन्हें भगाने में दिक्कतें आ रही हैं। वहीं शनिवार की शाम को दल को जंगल नौगांवा व जंगल लुअठहा के पास देखा गया। रविवार को सीडीओ आनंद कुमार, उप निदेशक कृषि चौधरी अरुण कुमार, जिला कृषि अधिकारी प्यारेलाल समेत अन्य अधिकारियों ने कीटनाशक दवाईयों का प्रबंध कर जंगल के इलाके में छिड़काव कराया।
इसी के साथ गांव वालों ने शोर मचाने के लिए थाली व बर्तन आदि को बजाया। बरहाल, बस्ती जिले की आफत फिलहाल के लिए टल गई है। लेकिन अभी पूरी तरह से यह खतरा टला नहीं है। किसानों को सजग रहने के लिए कहा गया है।

अपनाऐं ये उपाय

कृषि वैज्ञानिक डॉ प्रदीप कुमार ने बताया कि टिड्डी झुंड से बचाव के लिए-
फ्लेम थ्रोअर से टिड्डयों के झुंड पर हमला करें
ढोल नगाड़ा, डीजे आदि से शोर मचायें।
टिड्डियों के अंडों पर मेलाथियॉन या क्विनालफॉस को मिलाकर छिड़काव करें।

Written by: Vanshika Saini
YUVA BHARAT SAMACHAR

 

MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution