"> ');
Home » नटखट सी कविता बोलती खट्टी-मीठी बातें
रक्षाबंधन

नटखट सी कविता बोलती खट्टी-मीठी बातें


Pooja cloths house

ओए मेरे प्यारे भाई सुन…

प्रिया सैनी
ओए मेरे प्यारे भाई सुन...
तेरी बहन हूं मैं…
तो मैं अपना पूरा फर्ज निभाऊंगी।
तुझे हक से सताऊंगी भी।
और कभी मुझसे पंगा ना लियो।
तुझे डांट भी लगाऊंगी और
नाराज होगा तो मनाऊंगी भी।
तेरे गमों को तुझसे पहले मैं ही देख लूंगी।
तेरी धाकड़ बहना जो हूं।
तुझे तेरी सारी तकलीफो से बचाऊंगी भी।
और तेरे चेहरे पर खिलखिलाती हंसी लाऊंगी भी।
बस तू उदास ना होना कभी।
तेरी एक मुस्कान के लिए तो,
मैं खुद की हंसी बनाऊंगी भी।
कभी मुझसे कोई शिकवा हो,
गलती हो तो बोल दियो।
मुझसे रूठ ना जइयो कभी।
मुझसे दूर ना जइयो कभी।
नहीं तो तुझे दो सुनाऊंगी भी।
और तो और तुझसे सॉरी बुलाऊंगी भी।
– प्रिया सैनी, गुरू गोविंद सिंह कॉलेज, पीतमपुरा, दिल्ली।
आप भी अपनी कोई भी स्वयंरचित व अप्रकाशित रचना हमें अपने नाम व फोटो के साथ  eyuvabharat@gmail.com पर भेज सकते हैं।

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center