"> ');
Home » कृष्ण जन्माष्टमी पर अष्टकम् पाठ कर, नंदलाल को करें खुश
धार्मिक

कृष्ण जन्माष्टमी पर अष्टकम् पाठ कर, नंदलाल को करें खुश

BAL GOPAL
Pooja cloths house
कृष्ण जन्माष्टमी 12 अगस्त को देशभर में मनाई जाएगी। जन्माष्टमी पर भगवान श्री कृष्ण को खुश करने के लिए अष्टकम् पाठ सबसे उत्तम बताया गया है। यदि आप इस पाठ को जन्माष्टमी पर करेंगे तो जरूर आपके सभी बिगड़े काम बन जाएंगे और नंद के लाल गोपाल बहुत प्रसन्न होंगे।
कृष्ण अष्टकम्
चतुर्मुखादि-संस्तुं समस्तसात्वतानुतम्‌।
हलायुधादि-संयुतं नमामि राधिकाधिपम्‌॥1॥
बकादि-दैत्यकालकं स-गोप-गोपिपालकम्‌।
मनोहरासितालकं नमामि राधिकाधिपम्‌॥2॥
सुरेन्द्रगर्वभंजनं विरंचि-मोह-भंजनम्‌।
व्रजांगनानुरंजनं नमामि राधिकाधिपम्‌॥3॥
मयूरपिच्छमण्डनं गजेन्द्र-दन्त-खण्डनम्‌।
नृशंसकंशदण्डनं नमामि राधिकाधिपम्‌॥4॥
प्रसन्नविप्रदारकं सुदामधामकारकम्‌।
सुरद्रुमापहारकं नमामि राधिकाधिपम्‌॥5॥
धनंजयाजयावहं महाचमूक्षयावहम्‌।
पितामहव्यथापहं नमामि राधिकाधिपम्‌॥6॥
मुनीन्द्रशापकारणं यदुप्रजापहारणम्‌।
धराभरावतारणं नमामि राधिकाधिपम्‌॥7॥
सुवृक्षमूलशायिनं मृगारिमोक्षदायिनम्‌।
स्वकीयधाममायिनं नमामि राधिकाधिपम्‌॥8॥
इदं समाहितो हितं वराष्टकं सदा मुदा।
जपंजनो जनुर्जरादितो द्रुतं प्रमुच्यते॥9॥
॥ इति श्रीपरमहंसब्रह्मानन्दविरचितं कृष्णाष्टकं सम्पूर्णम्‌ ॥
MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution