"> ');
अन्य

कटहल का कुरकुरा डोसा खाया क्या?

Pooja cloths house

आपने कटहल तो खाया ही है ना और तो और डोसा भी खाया होगा। फिर चाहे बात हो मसाला डोसा की, प्लेन डोसा की या स्टफ्ड डोसा की। तीनों ही मिजाजों में डोसा बेमिसाल ही होता है। वहीं अगर बात करें कटहल की तो कटहल की सब्जी की कल्पना से ही मुंह में पानी आ जाता है। हां, हो सकता है कि कुछ लोगों को कटहल और डोसा दोनों ही पसंद ना हो। लेकिन कटहल और डोसा का मेलजोल शायद आपको पसंद आ ही जाएं।
ये बात तो कहनी ही पड़ेगी कि कटहल का डोसा रेयर है। लेकिन क्या आपको पता है कि भारत में एक जगह ऐसी भी है जहां ये आम है। और इस रेसिपी के बिना खाने का थाल अधूरा ही होता है। और ये जगह है कर्नाटक, जहां कटहल के क्रिस्पी डोसे को बड़े चाव से खाया जाता है।

किस्पी कटहल डोसा की खास बातें

  • इसे पोनसा पोलो डोसा कहा जाता है।
  • क्योंकि ये पोनसा यानि पके हुए कटहल से बना होता है।
  • और कोंकण क्षेत्र में पोला का मतलब डोसा होता है।
  • यह स्वाद में मीठा होता है ना कि नमकीन व चटपटा।
  • इसे नाशते के तौर पर खाया जाता है।

घर पर ऐसे बनाये पोनसा पोलो
साम्रगी-
1 कप चावल
1 कप पका हुआ कटहल
स्वादानुसार गुड़
2 इलायची
2 बड़े चम्मच कसा हुआ नारियल
1 चुटकी नमक

  • सबसे पहले गुड़ को घोल लें और एक तरफ रख दें।
  • चावल को भी करीब 2 घंटे पहले भिगो कर रख दें।
  • अब कटहल के बीजों को निकाले और उसे काट लें।

  • इसके बाद चावल को पानी से निकाले, उसमें गुड़, इलायची, कटा हुआ कटहल, नमक और नारियल मिला लें।
  • अब इन सभी चीजों को पीसकर बारीक पेस्ट बना लें और पानी बिल्कुल भी ना डालें।
  • आप चाहे तो इस वक्त पेस्ट की मिठास चेक कर सकती है।
  • इसके बाद घोल को बड़े बाउल में कर लें और धीरे धीरे पानी डालकर मिलाये। ताकि, घोल एकसार गिरने लायक हो सकें।
  • मध्यम आंच पर तवा गर्म करें और घोल को फैलाये।
  • याद रहें यह डोसा कुछ मोटा होता है। धीमी आंच पर डोसे को दोनों तरफ से सेंके और गर्मागर्म सर्व करें।

यदि आपके पास भी आपकी अपनी कोई यम्मी सी रेसिपी हो तो आज ही हमें अपने नाम और फोटो के साथ enquiry@eyuvabharat.com भेंजे।

Written by: Vanshika Saini
YUVA BHARAT SAMACHAR

 

MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution