"> ');
मनोरंजन

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती के सपोर्ट में उतरीं विद्या बालन… बोलीं- “अपराध साबित न होने तक दोषी ना ठहराएं”

Riya Chakraborty
Pooja cloths house

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस में अब तक कई नए पहलू सामने आए हैं। क्राइम ब्रांच और ई.डी किसी भी पहलू को नज़रअंदाज़ ना करके केस की जड़ तक पहुंचने में हर संभव कोशिश कर रही है। तो वहीं अब बॉलीवुड स्टार्स भी इस केस पर अपनी राय देने के लिए आगे आ रहे हैं। शेखर सुमन, कंगना रनौत, शत्रुघ्न सिन्हा, वरुण धवन समेत कई सेलिब्रिटीज़ केस पर अपनी राय दे चुके हैं। जैसा कि सभी जानते हैं कि केस में एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती से कड़ी पूछताछ चल रही है। जिसके चलते आम जनता रिया के खिलाफ हो गई है। तो वहीं कुछ बॉलीवुड सेलेब्स रिया के सपोर्ट में आए हैं। पिछले दिनों एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर ट्वीट किया था कि दोष साबित होने से पहले ही अदालत से उपर होकर किसी इंसान को दोषी ठहराना ठीक नही है।

आपको बता दें कि तापसी के बाद अब एक्ट्रेस विद्या बालन भी रिया चक्रवर्ती के सपोर्ट में उतरीं हैं। विद्या ने सोशल मीडिया के ज़रिए अपनी बात जनता के सामने रखी। उन्होंने अपने ट्वीट में सुशांत केस को मीडिया सर्कस ना बनाने और कानून को अपना काम करने देने की अपील की है।sushant Riya

दरअसल, कुछ दिन पहले एक्ट्रेस लक्ष्मी मंछू ने ट्वीट करके रिया के इंटरव्यू से जुड़ी कुछ बाते कहीं थी। जिसपर रिएक्ट करते हुए विद्या ने ट्वीट किया है- “God Bless You लक्ष्मी मंछू ये बात खुलकर कहने के लिए। एक युवा स्टार सुशांत सिंह राजपूत की असमय मौत को मीडिया सर्कस बनना बदकिस्मती है। एक महिला होने के नाते, रिया चक्रवर्ती के हो रहे इस तिरस्कार से मेरा दिल टूट जाता है। जब तक अपराध साबित नहीं हो जाता तब तक क्या वे निर्दोष नहीं हैं, या अब ऐसा है कि जब तक साबित नहीं हो जाता तब तक आप दोषी हैं? नागरिकों के कानूनी अधिकार के प्रति थोड़ी इज्जत दिखाएं और कानून को अपना काम करने दें”।vidya Riya

आपको बता दें लक्ष्मी मंछू ने ट्वीट किया था- ‘मैंने रिया चक्रवर्ती का पूरा इंटरव्यू देखा। मैंने बहुत सोचा कि मैं इस पर अपनी राय दूं या नहीं। मैं कितने ही लोगों को चुप बैठे देख रही हूं, सिर्फ इसीलिए क्योंकि मीडिया ने एक लड़की को राक्षस बना दिया है। मुझे सच नहीं पता पर मैं सच जानना चाहती हूं और मुझे उम्मीद है कि सच जल्द ही ईमानदारी से बाहर आ जाएगा। पर तब तक क्या हम बिना सही तथ्यों को जाने किसी इंसान और उसके परिवार पर उंगलिया उठाना और गाली देना बंद नही कर सकते? मैं रिया और उनके परिवार का दर्द समझ सकती हूं कि उन्हें किन-किन कठिनाईयों से गुज़रना पड़ रहा होगा। यदि ऐसा कुछ मेरे साथ हुआ होता तो मैं ज़रूर चाहती के मेरे साथी मेरे साथ खड़ें हो। हम कैसे विश्वस्नीय बनेंगे जब तक हम खुल कर अपनी बात ही सबके सामने नही रख सकेंगे। और इसीलिए आज मैं अपने कलीगे के साथ खड़ी हो रही हूं’।

Written by: ANKITA BARKODIA

YUVA BHARAT SMACHAR
MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution