"> ');
Home » यूनिसेफ सेलेब्रिटी एडवोकेट बने आयुष्मान खुराना
मनोरंजन

यूनिसेफ सेलेब्रिटी एडवोकेट बने आयुष्मान खुराना

UNICEF celebrity advocate
Pooja cloths house
बॉलीवुड के जाने माने ओर दमदार एक्टिंग से लोगो को आकर्षित वाले एक्टर आयुष्मान खुराना को एक बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। आयुष्मान खुराना को देश में यूनिसेफ का सेलिब्रिटी एडवोकेट नियुक्त किया गया है। इस पद पर रहते हुए आयुष्मान खुराना देश में बच्चों के खिलाफ होने वाली हिंसाओं पर लोगों को जागरुक करेंगे। यह काम देश के हर बच्चे के लिए एक समान किया जाएगा। इस अभियान से जुड़ने के लिए आयुष्मान का उद्देश्य यह है कि वे देश के हर बच्चे को सुरक्षित बचपन का अनुभव कराए।
इस पद पर नियुक्त किए जाने की खुशी में आयुष्मान खुराना का कहना हैं कि, ‘मैं बहुत खुश हूं कि यूनिसेफ ने मुझे इस लायक समझा और मुझे इस काम से जुड़ने का मौका दिया। मुझे लगता है कि हर किसी को अपनी जिंदगी को जीने की अच्छे से शुरुआत करने का हक है। जैसा कि मैं अपने बच्चों को खुशी और सुरक्षा के साथ अपने घर में खेलते हुए देखता हूं तो सोचता हूं कि हर बच्चे को उसका बचपन खुलकर जीने की आजादी होनी चाहिए। वहीं दूसरी तरफ कुछ बच्चों को देखकर बहुत दुख होता है कि उन्हें बचपन से ही घर में या फिर बाहर हिंसाओं का शिकार होना पड़ता है।’ UNICEF TWEET
आयुष्मान खुराना का यह पर एक ऐसा पद है जो कि एक जनता के बीच पहचान रखने वाले किसी सिनेमा से जुड़े कलाकार या खिलाड़ियों को यह दिया जाता है। अपनी पहचान और पद का इस्तेमाल करते हुए इस पर बैठा इंसान दुनिया में हो रही परेशानियों को देख कर उनके खिलाफ आवाज उठा सकता है। वह जनता के बीच उन बीमारियों या आपदाओं में जागरूकता भी फैला सकता है। जिसके बारे में लोगों को बहुत कम जानकारी होती है। इसके अलावा प्राकृतिक आपदा या फिर किसी अन्य प्रकार की आपदाओं में भी राहत के लिए वह फंड जुटाने का काम करता है।
देश में यूनिसेफ का नेतृत्व करने वालीं डॉक्टर यास्मीन अली हक ने सेलिब्रिटी एडवोकेट के पद पर आयुष्मान का स्वागत करते हुए कहा, ‘मुझे बड़ी खुशी हो रही है कि आयुष्मान खुराना को यूनिसेफ सेलिब्रिटी एडवोकेट का पद सौंपा गया है। वह इस देश के एक बेहतरीन कलाकार हैं जिन्होंने कुछ संवेदनात्मक मुद्दों पर फिल्में बनाकर बड़ी चुनौतियों का सामना किया है। वह बच्चों के हक के लिए एक ताकतवर आवाज जरूर बनेंगे। उनकी मदद से हमें लोगों के बीच में जागरूकता पहुंचने में मदद मिलेगी।’
Written by: ANNU CHOUBEY
YUVA BHARAT SAMACHAR
MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution