"> ');
स्पोर्टस

7 साल बाद मैदान पर श्रीसंत की वापसी

sreesanth
Pooja cloths house
भारतीय क्रिकेट के सबसे तेज गेंदबाज श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप के मामले में लाइफ टाइम बैन लगा दिया गया था, लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इसे घटाकर 7 साल  का किया  था।  एस श्रीसंत का 7 साल का आरोप  खत्म हो गया।
37 साल के सबसे तेज गेंदबाज श्रीसंत ये साफ कर चुके हैं कि बैन के बाद वो घरेलू क्रिकेट में खेलेंगे तो वहीं उनकी होम टीम केरल की तरफ से भी ये कहा जा चुका है कि अगर वो अपनी फिटनेस साबित कर देते हैं तो वो उन्हें टीम में शामिल करने पर विचार करेंगे। श्रीशांत पर लगे आरोप खत्म होने के बाद श्रीसंत ने कहा कि “मैं अब आजाद हूं”।
आरोप खत्म होने से पहले श्रीसंत ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, “मैं हर तरह के चार्ज से पूरी तरह से फ्री हो जाउंगा और खेल का प्रतिनिधित्व फिर से करूंगा जिसे मैं सबसे ज्यादा पसंद करता हूं। मैं हर एक गेंद पर अपना बेस्ट देने की कोशिश करूंगा। उन्होंने आगे लिखा था कि मैं इस खेल को 5-7 साल और दे सकता हूं और जिस भी टीम की तरफ से खेलूंगा अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगा”। श्रीसंत पर 2013 के आइपीएल सीजन के दौरान फिक्सिंग के आरोप लगे थे और उसके बाद श्रीशांत पर लाइफ टाइम बैन लगा दिया गया था। साल 2013 में श्रीसंत के अलावा अजीत चंडीला और अंकित चौहान पर भी बैन लगाया गया था।
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 15 मार्च को बीसीसीआइ की अनुशासन कमेटी के आदेश को रद कर दिया और बोर्ड को सजा कम करने की अवधि पर विचार करने को कहा था। श्रीसंत ने भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी 20 इंटरनेशनल मैच खेले थे। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 87, वनडे में 75 जबकि टी20 क्रिकेट में 7 विकेट अपने नाम किए थे। श्रीसंत एक आक्रामक तेज गेंदबाज के तौर पर जाने जाते हैं और साथ ही बिग बॉस से रिएलिटी शो के कंटेंटस्टेंट भी रह चुके है। उनके सेलीब्रेशन का अंदाज सबसे अलग था, लेकिन बैन के बाद इन सब पर ब्रेक लग गया था।sreesanth
श्रीसंत अब घरेलू क्रिकेट के जरिए मैदान पर वापसी पर कर सकते हैं, लेकिन इस वक्त कोविड 19 महामारी की वजह से भारत का घरेलू क्रिकेट बंद है ऐसे में उन्हें वापसी के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। देखना दिलचस्प होगा कि श्रीशांत को केरल की टीम में मौका मिलता है या नहीं। घरेलू सीजन की शुरुआत अगस्त से होनी थी, लेकिन इस महामारी के कारण ऐसा नहीं हो सका और अब बोर्ड भी स्थिति के संभलने का इंतजार कर रही है। श्रीशांत अपनी क्रिकेट में वापसी के बाद अपनी बिगड़ी छवि को सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे।
MahaLaxmi group of institution
MahaLaxmi group of institution