"> ');
Home » सरकार का सराहनीय कदम… कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को 5000 रूपये प्रति माह पेंशन
राष्ट्रीय

सरकार का सराहनीय कदम… कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को 5000 रूपये प्रति माह पेंशन

Shivraj Singh Chauhan
Shivraj Singh Chauhan CM (MP)

Pooja cloths house

सरकार का सराहनीय कदम… कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को 5000 रूपये प्रति माह पेंशन

भारत की मौजूदा हालत किसी से छिपी नहीं है। देश इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है। जहां हमारी अपनी सरकार अपने देश को बचाने में असमर्थ नज़र आ रही है, वहीं दुनिया के अलग-अलग कोनो से भारत की मदद के लिए कई देश सामने आ रहे हैं। इस महामारी के चलते लोग अपनी जान गवा चुके है और ना जाने कितने ही परिवारों को इस बीमारी ने बेसहारा और लाचार बना कर छोड़ दिया है। इस महामारी ने कई मासूमों के सर से माता-पिता का साया ही छीन लिया। यूं तो अब उनकी दुनिया कभी भी पहले जैसी नही रहेगी, लेकिन उनकी आने वाली जिंदगी को थोड़ा बेहतर बनाने और एक नई उम्मीद के साथ आगे बढ़ने के लिए मध्य-प्रदेश सरकार एक छोटी-सी पहल करने जा रही है।

इस संकट की घड़ी में मध्य-प्रदेश सरकार ने कोरोना की मार झेल रहे बेसहारा और निराश्रित परिवारों की मदद के लिए एक योजना तैयार की है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि कोरोनाकाल में जिन बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है, या यदि उनके परिवार में कोई कमाने वाला नही है, तो ऐसे परिवारों को 5,000 रुपये प्रति माह पेंशन दी जाएगी। साथ ही उन बच्चों को निशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा कि महामारी के दौरान जिन परिवारों के अभिभावक या संरक्षक की मृत्यु हो गई है, सरकार की तरफ से उन्हें मुफ्त राशन भी दिया जाएगा। साथ ही उन परिवारों को सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के लोन भी उपलब्ध कराया जाएगा। अगर वे काम करना चाहते हैं तो।

मध्यप्रदेश के साथ-साथ उम्मीद है कि बाकी राज्यों की सरकार भी बेसहारा लोगों का सहारा बनेगी।

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center