"> ');
Home » 25 आयुर्वेदिक नुस्खे… हर बीमारी से छुटकारा
लाइफस्टाइल

25 आयुर्वेदिक नुस्खे… हर बीमारी से छुटकारा

ayurveda

Pooja cloths house

आयुर्वेदिक नुस्खे—
हमारे जीवन में आयुर्वेद का विशेष महत्व है। जिससे असल में मालूम होता है कि मनुष्य के जीवन का खान-पीन कैसा होना चाहिए। आज के समय हर एक व्यक्ति किसी ना किसी बीमारी से परेशान है और कारण है केवल बिगड़ता हुआ खान-पीन। स्वस्थ रहने के लिए अच्छा खाना बहुत ज्यादा जरूरी है। चलिए तो आज हम आपको कुछ ऐसे ही देसी नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं। जिन्हें यदि आपने अपनी दिनचर्या में शामिल कर लिया तो आप कभी बीमार नहीं पड़ेगें। इस पोस्ट में हर बीमारी के साथ में उससे बचने के उपाय भी बताएं गए हैं…

1. योग, भोग और रोग ये तीन अवस्थाएं है।

2. लकवा – सोडियम की कमी के कारण होता है।

3. हाई वी पी में – स्नान व सोने से पूर्व एक गिलास जल का सेवन करें तथा स्नान करते समय थोड़ा सा नमक पानी मे डालकर स्नान करे।

4. लो बी पी – सेंधा नमक डालकर पानी पीयें।

5. कूबड़ निकलना- फास्फोरस की कमी।

6. कफ – फास्फोरस की कमी से कफ बिगड़ता है, फास्फोरस की पूर्ति हेतु आर्सेनिक की उपस्थिति जरुरी है।गुड व शहद खाएं

7. दमा, अस्थमा – सल्फर की कमी।

8. सिजेरियन आपरेशन – आयरन, कैल्शियम की कमी।

9. सभी क्षारीय वस्तुएं दिन डूबने के बाद खायें।

10. अम्लीय वस्तुएं व फल दिन डूबने से पहले खायें।

11. जम्भाई- शरीर में आक्सीजन की कमी।

12. जुकाम – जो प्रातः काल जूस पीते हैं वो उस में काला नमक व अदरक डालकर पियें।

13. ताम्बे का पानी – प्रातः खड़े होकर नंगे पाँव पानी ना पियें।

14. किडनी – भूलकर भी खड़े होकर गिलास का पानी ना पिये।

15. गिलास एक रेखीय होता है तथा इसका सर्फेसटेन्स अधिक होता है।गिलास अंग्रेजो ( पुर्तगाल) की सभ्यता से आयी है अतः लोटे का पानी पियें, लोटे का कम सर्फेसटेन्स होता है।

16. अस्थमा, मधुमेह, कैंसर से गहरे रंग की वनस्पतियाँ बचाती हैं।

17. वास्तु के अनुसार जिस घर में जितना खुला स्थान होगा उस घर के लोगों का दिमाग व हृदय भी उतना ही खुला होगा।

18. परम्परायें वहीँ विकसित होगीं जहाँ जलवायु के अनुसार व्यवस्थायें विकसित होगीं।

19. पथरी – अर्जुन की छाल से पथरी की समस्यायें ना के बराबर है।

20. RO का पानी कभी ना पियें यह गुणवत्ता को स्थिर नहीं रखता।कुएँ का पानी पियें।बारिस का पानी सबसे अच्छा, पानी की सफाई के लिए सहिजन की फली सबसे बेहतर है।

21. सोकर उठते समय हमेशा दायीं करवट से उठें या जिधर का स्वर चल रहा हो उधर करवट लेकर उठें।

22. पेट के बल सोने से हर्निया, प्रोस्टेट, एपेंडिक्स की समस्या आती है।

23. भोजन के लिए पूर्व दिशा, पढाई के लिए उत्तर दिशा बेहतर है।

24. HDL बढ़ने से मोटापा कम होगा LDL व VLDL कम होगा।

25. गैस की समस्या होने पर भोजन में अजवाइन मिलाना शुरू कर दें।

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center