"> ');
Home » डायबिटीज की समस्या से निजात पाने का रामबाण इलाज
अन्य लाइफस्टाइल

डायबिटीज की समस्या से निजात पाने का रामबाण इलाज

गिलोय

Pooja cloths house

आज के मॉर्डन समय में मॉर्डन रहन-सहन और खान पीन के चलते बीमारियां बढ़ती जा रही है। उन बीमारियों में से डायबिटीज एक ऐसी घातक बीमारी है, जिसकी चपेट में बड़ों के साथ-साथ बच्चें भी आते जा रहे हैं। हालांकि अब के मुताबिक कुछ साल पहले की बात करें तो 40-50 साल की उम्र के लोग ही डायबिटीज के शिकार होते थे। वर्तमान समय में बिगड़ते लाइफस्टाइल के कारण डायबिटीज या शुगर होना आम हो गया है। ऐसे में जरूरी है कि अपने खान-पीन को संतुलित किया जाएं ताकि इस तरह की बीमारियों से छुटकारा मिल सके। आज हम आपको डायबिटीज से बचने का एक रामबाण इलाज बताने जा रहे हैं। जिसके इस्तेमाल मात्र से इस बीमारी से निजात पाया जा सकता है।

मधुमेह के रोगी को दवाइयों के साथ-साथ खानपान पर भी विशेष ध्यान रखना चाहिए और खान-पीन में सबसे ज्यादा जरूरी है गिलोय का सेवन। जी हां, आप गिलोय का सेवन करने से मुधमेह को मात दे सकते हैं।

गिलोय के गुण

गिलोय एक प्राचीन आयुर्वेदिक औषधि है जो सामान्यतः वन जंगलों में पाई जाती है। जिसे प्राचीन काल से ही युर्वेदिक औषधि के रूप में इस्तेमाल हो रहा है। यह कई प्रकार की बीमारियों को नष्ट करने में पूर्णतः सक्षम है। गिलोय पोषक तत्वों का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है। जिसमें कॉपर, आयरन, फास्फोरस, जिंक ,कैल्शियम आदि तत्व प्रचुर मात्रा में उपस्थित रहते हैं।

डायबिटीज में गिलोय के फायदा

मधुमेह के रोगियों के लिए गिलोय बहुत उपयोगी औषधि है। इसका सेवन करने से इंसुलिन का उत्सर्जन होता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो गिलोय एक हाइपोग्लाइसेमिक एजेंट के तौर पर कार्य करता है जो कि खून में उपस्थित शुगर स्तर को नियंत्रण करने में बहुत सहायक होता है।

गिलोय का सेवन करने से चीनी खाने की इच्छा को नियंत्रित किया जा सकता है।giloy

गिलोय के सेवन का तरीका

गिलोय के कुछ पत्ते लें और उन्हें साफ पानी से धो लें। इन पत्तों को 400 मिलीमीटर पानी में उबालें और पानी को तब तक उबलते रहने दें, जब तक पानी आधा ना रह जाए। अब उबले हुए पानी को ठंडा करें और पानी को छानकर गिलास में कर लें। जिसके बाद गिलास में तीन चुटकी काली मिर्च पाउडर डालें और इसका सेवन दिन में दो बार अवश्य करें।

डायबिटीज रोगी गिलोय का रस या गोली भी नियमित रूप से ले सकते हैं।

गिलोय का रस बनाने के लिए उंगली बराबर गिलोय का तना लेकर उसका रस निकाल लें और उसमें बेल के एक के पत्ते के साथ थोड़ी सी हल्दी मिलाकर रस तैयार करें। इस रस को हर रोज खाली पेट एक चम्मच रस लें।

इस तरह से नियमित रूप से गिलोय का सेवन करने से डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है।

SONU KUMAR

YUVA BHARAT SAMACHAR 

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center