"> ');
Home » टोक्यो ओलंपिक 2020: कौन हैं भारत को पहला मेडल दिलाने वाली मीराबाई चानू ?
लाइफस्टाइल स्पोर्टस

टोक्यो ओलंपिक 2020: कौन हैं भारत को पहला मेडल दिलाने वाली मीराबाई चानू ?

Tokyo Olympics Weightlifting Women

Pooja cloths house

मीराबाई चानू भारत की ऐसी महिला है जो कि ओलंपिक 2020 में देश को पहला मेडल दिलाया। मीराबाई चानू ने मेडल जीतकर भारत का सर गर्व से ऊंचा कर दिया। इन्होंने दुनिया को दिखा दिया कि हम कुछ भी कर सकते हैं। इनके मेडल की चमक से करोड़ो भारतीय नारी को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली है। आइए जानते हैं कि कौन हैं मीराबाई चानू ?

मीराबाई चानू का जन्म 8 अगस्त 1994 को मणिपुर हुआ। ये एक मध्यवर्गीय परिवार से हैं। इनके पिता का नाम साइखोम कृति  और माता का नाम साइखोम ओंगबी टोंबी लेइमा है। मीराबाई जानू की बहन का नाम साइखोम रंगीता और साइखोम शाया है वहीं  इनके भाई का नाम साइखोम सनातोंबा है।

मीराबाई चानू के वैवाहिक जीवन की बात करें तो इन्होंने ने अभी तक शादी नहीं की है। मीराबाई चानू का कहना है कि अगर वो शादी कर लेंगी तो वो उनका लक्ष्य से ध्यान भटक जायेगा।

मीराबाई चानू की उपलब्धियां

2017 में 194 किलोग्राम वेट उठाकर मीरा ने वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में गोल्ड अपने नाम किया था। जब मीरा ने गोल्ड अपने नाम किया तब मीरा मात्र 22 वर्ष की थी और इतनी कम उम्र में ऐसा करने वाली पहली भारतीय एथलीट भी बन चुकी थी।

साल 2014, ग्लासगो कॉमनवेल्थ में 48 किलोग्राम की कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता

साल 2016, 12वीं साउथ एशियन गेम्स गुवाहाटी में गोल्डन मेडल अपने नाम किया

साल 2017, वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में 48 किलोग्राम की कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता

साल 2018, कॉमनवेल्थ गेम्स में 48 किलोग्राम की कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता।

साल 2021 में 50 किलोग्राम की कैटेगरी में सिल्वर मेडल टोक्यो ओलंपिक खेल में जीता।

अभी इसी साल चल टोक्यो ओलंपिक में मीराबाई चानू ने भारत को पहला मैडल दिलाया है। मीराबाई 49 किलोग्राम वेट ने कुल 202 किलो का वजन उठाकर सिल्वर को अपने नाम किया है। आपको बता दें कि भारत को वेटलिफ्टिंग ओलम्पिक मैडल पूरे 21 वर्षों के बाद मिला है।

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center