"> ');
Home » म्यूजिक थैरेपी रखती है आपको हैप्पी…जाने साइंटिफिक रीजन
लाइफस्टाइल

म्यूजिक थैरेपी रखती है आपको हैप्पी…जाने साइंटिफिक रीजन


Pooja cloths house

संगीत ऐसा माध्यम है जो किसी भी माहौल में हमें हिम्मत देने का काम करता है। और हमारे शरीर में जोश भी भर देता है। संगीत यानि कि म्यूजिक केवल हमारे मनोरंजन का  साधन ही नहीं बल्कि हमारी सेहत के लिए भी जरूरी है। दुनिया के कई सारे शोधों से एक चीज़ जो साफ़ हुई है कि संगीत का स्वर हमारे दिमाग के साथ-साथ हमारे शरीर पर भी अलग-अलग समय पर अलग-अलग असर डालता है।

यही कारण है कि संगीत हमें बहुत सी गंभीर बीमारियों से निकाल सकता है।  अब संगीत का प्रयोग बहुत सी जगह   थैरेपी के तौर पर किया जाने लगा है। इसलिए आज हम म्यूजिक थैरेपी के कुछ अनसुने फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं।

  • किसी भी बीमारी से जल्दी ठीक होने के लिए दवाईयो के साथ-साथ म्यूजिक थैरेपी भी दी जाती है। जिससे जल्दी ही मरीज़ की रिक्वरी हो सके।
  • म्यूजिक थैरेपी का असर हमारे शरीर पर और दिमाग़ दोनों पर ही होता है। ऊँचा स्वर हमारे शरीर को उत्साह व जोश से भर देता है।
  • तो वहीं मध्यम और धीमे स्वर हमारे दिल और दिमाग़ को सुकून और शांति देता है।

म्यूजिक थैरपी के कुछ असरदार फायदे :

  • हमारे जीवन में ऐसा बहुत सा समय आता हैं जब हम अपने ग़ुस्से, एमोशन्स, टेंशन इन सभी चीज़ो पर नियंत्रण नहीं रखे पाते। और आज की इस भाग-दौड़ वाली ज़िन्दगी में तो ये बहुत आम सी बात हो गई हैं।

लेकिन इन सबसे बचने का बहुत सरल तरीका है कि हम कुछ समय अपना अपने पसंदीदा गानों को दें। जिससे हमारी परेशानी व टेंशन कुछ हद तक कम होगी और हमें ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारियों और अवसाद जैसी परेशानियों से भी थोड़ी राहत मिलेगी!

और low blood pressure होगा ऐसे ठीक….

  • बता दें कि पार्किंसन और अल्जाइमर जैसी गंभीर बीमारी को भी म्यूजिक थैरपी से ठीक  किया जा सकता है। पार्किंसन गंभीर बीमारी में मरीज़ का शरीर हर वक्त कांपता रहता है। और अगर बात की जाये अल्जाइमर के मरीज़ की तो वह सब कुछ भूलने लगता है।

ऐसे में पेशेंट्स पर म्यूजिक थैरपी का यूज करना बहुत ही सकारात्मक रिजल्ट देता है। क्योंकि म्यूजिक हमें अपनी पुरानी बातों को याद करने में मदद करता हैं।

  • म्यूजिक थैरपी हमें बहुत सी चीज़ों से बचाता हैं जैसे कि आज के टाइम में हर कोई स्पेशली हमारे युवा जो कि बहुत जल्दी ही डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं। डिप्रेशन में इंसान कुछ भी सोचने समझने की शक्ति को खो देता हैं और कभी कभी तो आत्महत्या तक करने की सोच लेता है।

ऐसे में अपना मनपसंद म्यूजिक हमारे लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। एक शोध के अनुसार अगर किसी पौधे के पास भी हर रोज गाना बजे तो वो जल्दी बढ़ता और अच्छा हरा-भरा रहता हैं। तो जो म्यूजिक पेड़ पौधों के लिए इतना कारगर हो सकता है, तो वो हमारे लिए भी किसी रामबाण से कम नहीं होगा।

  • म्यूजिक में इतनी शक्ति होती है कि लगातार म्यूजिक सुनने वाला इंसान अपने आपको दूसरों के सामने अच्छी तरह एक्सप्रेस कर पाता है। और दूसरों के अपेक्षा वो अपनी बातों को और भी तरीके के साथ लिख और बोल पाता हैं।

जिसका कारण हैं म्यूजिक से निकलने वाले तरंग हमें काफ़ी ख़ुशनुमा और बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

  • जो लोग म्यूजिक से दूर रहते है, यानि हर रोज़ म्यूजिक नहीं सुनते हैं उनके मुकाबले डेली म्यूजिक सुनने वाले लोगों का मानसिक और शारीरिक तालमेल बेहतर स्थिति में होता है। और वो लोग ज्यादा जिन्दादिली से अपनी ज़िंदगी के मज़े लिया करते हैं।

तो आप भी कीजिए म्यूजिक से दोस्ती और रहिये खुश और स्वस्थ।

Written by: Asmita Shukla

YUVA BHARAT SAMACHAR

We are hiring

Suraj mobile center

Suraj mobile center